Ticker

6/recent/ticker-posts

Hindi kahaniya | देखिए कौन आपके सामने रास्ता रोक रहा है | Motivational stories in hindi

Hindi kahaniya | देखिए कौन आपके सामने रास्ता रोक रहा है | Motivational stories in hindi


हर इंसान सोचता हैं ऐसा कोई न कोई एक हैं, जिसके लिए उसकी ग्रोथ अटकी हुई है। उसकी खुशी अटकी हुई है। और वही हर office में, हर संगठन में, हर परिवार में और हर कंपनी में देखा जा सकता है।

आइए मिलते हैं उससे जो आपके सामने रास्ता रोक रहा है, जो आपको बिल्कुल भी खुश नहीं देखना चाहता।

Positive stories hindi
Positive stories hindi

एक Motivational story in hindi ‘शत्रु’।

एक बार एक कंपनी के boss ने देखा कि, उनके office में हर staff टाइम से office में आय रहा हैं, लेकिन कोई भी दिमाग से काम नहीं कर रहा है। इस वजह से, अच्छे results नहीं आ रहे हैं। उन्होंने सोच रहा था कि इसे कैसे हल किया जाए।

इसलिए बहुत सोचने के बाद उन्होंने एक आइडिया निकाला। एक दिन छुट्टी होने के बाद जब सब staff चले गए, तब उन्होंने कागज के एक टुकड़े पर कुछ लिखे और office के नोटिस बोर्ड पर चिपका के चले गए। ताकि अगले दिन office में प्रवेश करते समय हर staff को इये नजर आये।

motivational story in hindi
motivational story in hindi

अगले दिन जब हर staff एक-एक करके office में आए, तो सभी ने एक बार उस नोटिस को पढ़ के देखा । जिस पर लिखा था - जो आपको सबसे ज्यादा नापसंद करता है, वह व्यक्ति जिसके लिए आपका ग्रोथ अटकी हुई है, वह जो आपका सबसे बड़ा दुश्मन है, कल रात उसकी मृत्यु हो गई।

मैं आपको उनके अंतिम कार्य को पूरा करने के लिए आमंत्रित करता हूं। उनका शव office के हॉल रूम में रखा गया है। आप उनके अंतिम दर्शन कर सकते हैं।

moral stories in hindi
moral stories in hindi

कुछ लोगों को इसे पढ़कर कुछ समझ नहीं आया कि क्या हो रहा है। कुछ लोग अपने मन में खुश हो रहा था, क्यों की उसका सबसे बड़ा दुश्मन खत्म हो गया, इस बार कोई भी उसके ग्रोथ को रोक नहीं पाएगा, इस बार मेरे जीवन में कुछ अच्छा होगा।

लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया उनके बीच तनाव बढ़ता गया, कोई सोच नहीं पा रहा था कि किसकी मृत्यु हुई है।

हर staff एक-एक करके आ रहा था, और वे आपस में चर्चा कर रहा था।

stories of hindi
stories of hindi

जहां शव को रखा गया था उस हॉल के बाहर भीड़ जमा हो गई, और इतनी भीड़ हो गयी की सिक्योरिटी बुलाना पड़ा।

Finally, एक-एक करके, सभी staff को अंदर बुलाया गया। अंदर, जहां कॉफिन रखा गया था, सबने वोही मे आके इकट्ठा हुआ। अचानक चारों तरफ सन्नाटा छा गया। हर कोई एक-दूसरे का मुंह देखता रहा।

life changing story
life changing story 

कॉफिन को तरफ देखते हुए, हर किसी में एक एसा फीलिंग्स आया जैसे किसी ने उनकी आत्मा को छु ली।

इसका कारण केबिन में सिर्फ शीशा रखा था। जहां हर कोई अपना reflection देख रहा था, और शीशे के बगल में एक कागज के टुकड़े पर लिखा था, आप वह व्यक्ति हैं जिसने आपकी ग्रोथ को रोक रखा है। आप वह व्यक्ति हैं जो आपकी खुशी को रोक रखा है।

short story in hindi with moral
short story in hindi with moral

Hindi kahaniya | एक अच्छा व्यक्ति जीवन में ज्यादा कष्ट क्यों उठाता है?| Moral stories in hindi

इस hindi Motivational story से हम किया सीखे ?

जीवन में आपका boss बदलते रहेंगे, आपका दोस्त बदलते रहेंगे, आपका साथी बदलते रहेंगे, आपके परिवार आप के छोड़ कर जाते रहेंगे। लेकिन आपका जीवन तभी बदलेगा जब आप बदलेंगे।

ये दुनिया एक शीशा है जो आपके विचारों को reflection है, आप जो सोचेंगगे वही होगा।

बहुत से लोगों को बहुत सारी शिकायतें हैं, दूसरे लोगों पर, कि उसने उसके साथ ऐसा किया, उसने उसके साथ वैसा किया।

लेकिन दोस्त, अगर आप खुद को बदल नहीं सकते हैं, तो यह शिकायत आपके साथ जीवन भर रहेगी, और आप जीवन में कभी आगे नहीं बढ़ पाएंगे।

इसलिए मैं कहूंगा कि अगर आपको एक आदर्श व्यक्ति बनना है, तो खुद के लिए बनो। अगर आप खुद को बदलने की कोशिश करेंगे तो ये दुनिया अपने आप बदल जाएगी। याद रखें जीतेगा वही जो कुछ करके दिखायेगा।

Think positive, Talk positive, Feel positive

20 best education quotes in hihdi| inspiring educational quotes for students


विशेष नोट:

हमारे एक और YouTube चैनल है, जिसका नाम है ‘Freedoms Today’। जहां हम Network marketing के बारे में वीडियो बनाते हैं। अगर आप Network marketing के बारे में जानना चाहते हैं और Network marketing सीखना चाहते हैं तो आप इस चैनल को फॉलो कर सकते हैं। और अगर आप हमसे संपर्क करना चाहते हैं, तो आप हमारी website पर जा सकते हैं।

Freedoms Today Website: http://www.freedomstoday.com/

Freedoms Today YouTube channel: https://www.youtube.com/FreedomsToday

Email: freedomstoday1@gmail.com


Post a Comment

0 Comments