Ticker

6/recent/ticker-posts

20 best gulzar shayari in hindi | gulzar poetry in hindi

20 best gulzar shayari in hindi | gulzar poetry in hindi


Hello Friends: आज 20 best Gulzar Shayari में पढ़ेंगे गुलज़ार साहब द्वारा लिखे गए "Gulzar Shayari", gulzar ki shayari, gulzar shayari in hindi, gulzar poetry in hindi, को Gulzar Shayari Image के साथ.

गुलज़ार साहब का जन्म पाकिस्तान के दीना गाँव में 18 August 1936 में हुआ. आज की पोस्ट हैं भारतीय सिनेमा जगत के मशहूर गीतकार, पटकथा लेखक, विश्व प्रसिद्ध शायर, फ़िल्म निर्देशक तथा नाटक-कार गुलज़ार जी पर आधारित हैं. गुलज़ार जी को आज के समय में कौन नहीं जानता। गुलज़ार साहब अपने पिता की वह दूसरी संतान थे. माँ का उनके बचपन में ही देहांत हो गया था और साथ उन्हें अपने पिता का भी प्यार नहीं मिला।

Gulzar shayari

1. शाम से आँख में नमी सी है, आज फिर आप की कमी सी है. दफ़्न कर दो हमें के साँस मिले, नब्ज़ कुछ देर से थमी सी है

“Shaam se aankh mein namee see hai, aaj phir aap kee kamee see hai. dafn kar do hamen ke saans mile, nabz kuchh der se thamee see hai”

gulzar shayari
gulzar shayari

2. कुछ अलग करना हो तो भीड़ से हट के चलिए, भीड़ साहस तो देती हैं मगर पहचान छिन लेती हैं।

“kuchh alag karana ho to bheed se hat ke chalie, bheed saahas to detee hain magar pahachaan chhin letee hain.”

gulzar shayari
gulzar shayari

3. कोई पुछ रहा हैं मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत, मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना।

“koee puchh raha hain mujhase meree jindagee kee keemat, mujhe yaad aa raha hai tera halke se muskuraana.”

gulzar shayari
gulzar shayari

4. उसने कागज की कई कश्तिया पानी उतारी और, ये कह के बहा दी कि समन्दर में मिलेंगे।

“Usane kaagaj kee kaee kashtiya paanee utaaree aur, ye kah ke baha dee ki samandar mein milenge.”

gulzar shayari
gulzar shayari

5. कभी तो चौक के देखे कोई हमारी तरफ़, किसी की आँखों में हमको भी को इंतजार दिखे।

“Kabhee to chauk ke dekhe koee hamaaree taraf, kisee kee aankhon mein hamako bhee ko intajaar dikhe.”

gulzar shayari
gulzar shayari

Gulzar ki shayari

6. महफ़िल में गले मिलकर वह धीरे से कह गए,
यह दुनिया की रस्म है, इसे मुहोब्बत मत समझ लेना!!

“Mahafil mein gale milakar vah dheere se kah gae, yah duniya kee rasm hai, ise muhobbat mat samajh lena!!”

Gulzar ki shayari
Gulzar ki shayari

7. वो चीज जिसे दिल कहते हैं, हम भूल गए हैं रख कर कहीं!!

“Vo cheej jise dil kahate hain, ham bhool gae hain rakh kar kaheen!!”

Gulzar ki shayari
Gulzar ki shayari

8. मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में,
बस हम गिनती उसी की करते है जो हासिल ना हो सका।

“Milata to bahut kuchh hai is zindagee mein, bas ham ginatee usee kee karate hai jo haasil na ho saka.”

Gulzar ki shayari
Gulzar ki shayari

9. मोहब्बत ज़िन्दगी बदल देती है,
मिल जाए तब भी और ना मिले तब भी…!!!

“Mohabbat zindagee badal detee hai, mil jae tab bhee aur na mile tab bhee…!!!”

Gulzar ki shayari
Gulzar ki shayari

10. ये इश्क़ मोहब्बत की रिवायत भी अजीब है
पाया नहीं है जिसको उसे खोना भी नहीं चाहते.

“Ye ishq mohabbat kee rivaayat bhee ajeeb hai paaya nahin hai jisako use khona bhee nahin chaahate”

Gulzar ki shayari
Gulzar ki shayari

Gulzar shayari in hindi

11. यूँ तो रौनकें गुलज़ार थी महफ़िल, उस रोज़ हसीं चहरों से…
जाने कैसे उस पर्दानशी की मासूमियत पर हमारी धड़कने आ गई!!

“Yoon to raunaken gulazaar thee mahafil, us roz haseen chaharon se… jaane kaise us pardaanashee kee maasoomiyat par hamaaree dhadakane aa gaee!!”

Gulzar shayari in hindi
Gulzar shayari in hindi

12. नज़र झुका के उठाई थी जैसे पहली बार,
फिर एक बार तो देखो मुझे उसी नज़र से!

“Nazar jhuka ke uthaee thee jaise pahalee baar, phir ek baar to dekho mujhe usee nazar se!”

Gulzar shayari in hindi
Gulzar shayari in hindi

13. जागना भी कबुल है तेरी यादों में रातभर,
तेरे अहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ!

“Jaagana bhee kabul hai teree yaadon mein raatabhar, tere ahasaason mein jo sukoon hai vo neend mein kahaan!”

Gulzar shayari in hindi
Gulzar shayari in hindi

14. कुछ रिश्तों में मुनाफा नहीं होता,
लेकिन ज़िन्दगी को अमीर बना देते हैं!

“Kuchh rishton mein munaapha nahin hota, lekin zindagee ko ameer bana dete hain!”

Gulzar shayari in hindi
Gulzar shayari in hindi

15. धागे बड़े कमजोर चुन लेते हैं हम,
और फिर पूरी उम्र गांठ बांधने में ही निकल जाती है !!

“Dhaage bade kamajor chun lete hain ham, aur phir pooree umr gaanth baandhane mein hee nikal jaatee hai !!”

Gulzar shayari in hindi
Gulzar shayari in hindi

20 best Hindi Funny shayari | Funny Shayari for Friends | shayari funny

Gulzar poetry in hindi

16. हम तो समझे थे कि हम भूल गए हैं उनको, क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया?

“Ham to samajhe the ki ham bhool gae hain unako, kya hua aaj ye kis baat pe rona aaya?”

Gulzar poetry in hindi
Gulzar poetry in hindi

17. हाथ छुटे भी तो रिश्ते नहीं नहीं छोड़ा करते, वक्त की शाख से लम्हें नहीं तोडा करते।

“Haath chhute bhee to rishte nahin nahin chhoda karate, vakt kee shaakh se lamhen nahin toda karate.”

Gulzar poetry in hindi
Gulzar poetry in hindi

18. तन्हाई की दीवारों पर घुटन का पर्दा झूल रहा हैं, बेबसी की छत के नीचे, कोई किसी को भूल रहा हैं।

“Tanhaee kee deevaaron par ghutan ka parda jhool raha hain, bebasee kee chhat ke neeche, koee kisee ko bhool raha hain.”

Gulzar poetry in hindi
Gulzar poetry in hindi

19. छोटा सा साया था, आँखों में आया था, हमने दो बूंदों से मन भर लिया।

“Chhota sa saaya tha, aankhon mein aaya tha, hamane do boondon se man bhar liya.”

Gulzar poetry in hindi
Gulzar poetry in hindi

20. एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद, दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं।

“Ek sapane ke tootakar chakanaachoor ho jaane ke baad, doosara sapana dekhane ke hausale ka naam jindagee hain.”

Gulzar poetry in hindi
Gulzar poetry in hindi

Hindi kahaniya | सफल होने के लिए दर्द सहना पड़ेगा | Moral stories in hindi


विशेष नोट:

हमारे एक YouTube चैनल है, जिसका नाम है ‘Freedoms Today’। जहां हम Network marketing के बारे में वीडियो बनाते हैं। अगर आप Network marketing के बारे में जानना चाहते हैं और Network marketing सीखना चाहते हैं तो आप इस चैनल को फॉलो कर सकते हैं। और अगर आप हमसे संपर्क करना चाहते हैं, तो आप हमारी website पर जा सकते हैं।

Freedoms Today Website: http://www.freedomstoday.com/

Freedoms Today YouTube channel: https://www.youtube.com/FreedomsToday

Email: freedomstoday1@gmail.com


Read More -



Post a Comment

0 Comments